मई 09, 2021

5G क्या है? | 5g नेटवर्क से नुकसान

यदि आप इंटरनेट पर 5G क्या है, 5g नेटवर्क से नुकसान (What is 5g in hindi ) सर्च कर रह है तो यह पोस्ट आपके लिए ही है, में आज आपको बताऊंगा 5g टेक्नोलॉजी क्या है 5g टेक्नोलॉजी कैसे काम करती है 5g टेक्नोलॉजी भारत मे कब आएगी एवं 5g नेटवर्क 4g से नेटवर्क से कितना तेज होगा?


तो आपको बता दूं ये सर्च करने वाले आप एकलौते नही है लगभग हर भारतीय जानना चाहता है What is 5g technology in hindi

    5G नेटवर्क क्या है What is 5g network in hindi

    5g network se nuksaan,5g network,Internet,5g kya hai,5g network ke nuksaan,5g internet,disadvantages of 5g network in hindi,
    5G Technology 


    तो आपको बता देता हूँ 5G, Wireless Mobile Phone Technology की पांचवी पीढ़ी एवं पांचवी जेनेरेशन ( generation ) है. आपको पता होगा इससे पहले यानी 5G से पहले हम 4G, 3G, 2G एवं 1G नेटवर्क का इस्तेमाल करते आ रहे है.


    मेरी बात करूं तो मेने शुरू में 2G नेटवर्क का इस्तेमाल इंटरनेट चलाने में किया था सायद आपने भी 2g या फिर 1g नेटवर्क से इंटरनेट का इस्तेमाल किया होगा इसके अलावा बहुत से ऐसे लोग भी है जिन्होंने बहुत समय तक इंटरनेट इस्तेमाल तो दूर इसका नाम भी नही सुना था.


    दुनिया मे सबसे पहले 1G नेटवर्क का इस्तेमाल हुआ तभी से देश दुनिया मे इंटरनेट की क्रांति की शुरुआत हुई, पर कुछ वर्षों में नेटवर्क की तकनीकी पूरी तरह से बदल चुकी है क्योंकि अब लगभग 10 में से 8 लोगों के पास स्मार्टफोन मौजूद है जिससे स्मार्टफोन और इंटरनेट की मदद से घर बैठे ही लगभग सभी काम किए जा सकते है. इससे पहले यानी इंटरनेट टेक्नोलॉजी के शुरुआती दौर में जाए तो 1जी नेटवर्क टेक्नोलॉजी की शुरुआत वेरेलेस फ़ोन यानी मोबाइल फ़ोन से हुआ जिसे बिना तार के यूज़ किया जाता था जो कि एनालॉग सिग्नल पर आधारित था.



    5G का पूरा नाम क्या है? (5g network se nuksaan)

    दोस्तों अपने ये तो जान लिया 5जी नेटवर्क क्या है? पर आपको ये भी जानने की इक्छा होगी 5g का पूरा नाम क्या है और आपको ये जानना भी चाहिए क्योंकि आगे आने वाले समय में 5जी का उपयोग ही इंटरनेट में होने वाला है तो आपको बता देता हूँ "5जी का फुल फॉर्म है" Fifth Generation Wireless जो कि 4g से भी बड़ा वेरेलेस नेटवर्क टेक्नोलॉजी ( Wireless Network Technology ) है.



    1G, 2G, 3G और 4G क्या है

    1- 1G टेक्नोलॉजी भी 5G की तरहा ही एनालॉग सिग्नल पर आधारित है जो कि उस समय के हिसाब से बहुत अच्छी थी पर आज की जेनेरेशन से तुलना की जाए तो इसमें बहुत सी कमी मोबाइल में काम आवाज के साथ मोबाइल का आकार भी बड़ा होना साथ ही अधिक बजन का भी होना. जिसके नेटवर्क भी बहुत ज्यादा धीमी 2.4 kbps जिसकी मदद से आपको एक गाने को डाऊनलोड करने में घंटों इंतजार करना होता था.


    2 - 1G नेटवर्क की कमियों को पूरा करने करने के लिए 2nd जेनरेशन यानी 2g नेटवर्क मार्केट में लाया गया जो तकनीकी डिजिटल सिग्नल पर आधारित थी और इसमे इंटरनेट की स्पीड में कुछ सुधार देखने को मिला जिसकी मदद से गानों को डाउनलोड या मेसेज आदि भेजना पहले से ज्यादा आसान था पर ऑनलाइन वीडियो देखना या वीडियो कॉल करने 2g नेटवर्क में इतना आसान नही था. इसकी स्पीड की बात करे तो ये 1g से तोड़ी ज्यादा 236 kbps थी.


    3 - अब मार्केट में 3g टेक्नोलॉजी ने कदम रखा जो कि 1g और 2g के मुकाबले कही गुना ज्यादा तेज था जिसकी डेटा ट्रांसफर स्पीड 21 mbps थी जिसकी मदद से वीडियो कॉल और ऑनलाइन वीडियो देखना पहले के मुकाबले बहुत ज्यादा आसान था जिससे विज्ञापन में भी 3g नेटवर्क का इस्तेमाल होने लगा और कंप्यूटर लेपटॉप आदि के लिए भी ऑनलाइन टीवी देखने के लिए एप्पलीकेशन मार्केट में आने लगी. यह टेक्नोलॉजी यही तक सीमित नही रही इसका फायदा उठाने के लिए बाजार में नए-नए वीडियो कॉल के लिए मोबाइल फ़ोन आने लगे जिनमे पीछे और आगे कैमरे होते थे जिसे आज हम सेल्फी कैमरे के नाम से जानते है उस समय इसका उपयोग स्पेशल वीडियो कॉल के लिए किया जाता था इसलिए आप कह सकते है selfi camra 3g की ही देन है.


    4 - अब इंटरनेट जगत में धूम मचाने के लिए 2015 में 4 जी टेक्नोलॉजी की सुरुआत हुई जो कि 1g, 2g या 3g के मुकाबले एक-दो गुना नही बल्की 10गुना तेज था जिसमे मोबाइल में इंटरनेट की स्पीड 100 mbps थी और जिससे स्मार्ट को एक अलग ही जगह मिली जिसकी मदद से आप हाई क्वालिटी वीडियो को भी Internet या YouTube बिना बफरिंग के वीडियो या टीवी देख सकते है साथ ही Movies, Video, Songs और Apps को बड़ी आसानी से मिनटों या सेकेंड्स में डाऊनलोड किया जा सकता है.



    5G Technology कैसे काम करती है?

    दोस्तों अगर आप 5जी के काम करने के तरीके को समझना चाहते है तो पहले आपको वायरलेस नेटवर्क टेक्नोलॉजी को समझना होगा क्योंकि फिलहाल की कंडीशन में 4जी ( Fifth Generation, LTE Long-Term Evolution ) वायरलेस नेटवर्क के सिग्नल हमारे मोबाइल या कंप्यूटर पर आते है 


    वायरलेस नेटवर्क Radio Waves के जरिये प्राप्त होते है और इन्हें Transmit करना होता है जिसके लिए बड़े-बड़े मोबाइल टॉवर ( Signal Towers ) शहर और गांव में लगाये जाते है इसी तरह 5जी वायरलेस सिग्नल्स ( Wireless Signals ) को Trabsmit करने के लिए छोटे-छोटे Small Call Stations बनाने होंगे. 


    अब बात आती है 5जी में आप हाई स्पीड डेटा कैसे Transmit कर सकते है दरसल 5G Wireless Broadcast Technology का Spectrum 30 और 300 Gigahertz के मध्य होता है जिसे विज्ञान की भाषा मे Milimeter Waves या Milimeter Band के नाम से जाना जाता है चूँकि इन दोनों Waves और Band में Spectrum 30 से 300 GHh के मध्य में होता है इनमे से Milimeter Waves काम दूरी में Transmit हो जाती है जैसे कि उदारण कर लिए Wifi.


    तो हर जगह Milimeter Waves Antenna का कारण यही है जिसकी मदद से आप जिस भी डिवाइस में 5जी इस्तेमाल करेंगे वह तुरंत कनेक्ट हो जायेगा. अगर आप एक जगह से दूसरी जगह जाते है तो तुरंत दूसरे टॉवर यानी wave Antenna कनेक्ट हो जएगा.



    कौन-कौन से देश 5G नेटवर्क पर काम कर रहे है?

    अगर 5जी नेटवर्क इस्तेमाल की बात करे तो china, japan, south korea और US 5g की दौड़ में सबसे ज्यादा शामिल है.



    भारत में कब आएगी 5G टेक्नोलॉजी?

    अगर भारत मे 5जी की बात की जाए तो फिलहाल 4जी नेटवर्क ही भारत मे सम्पूर्ण रूप से विकसित नही हुआ है क्योंकि अभी भी हमारे देश मे बहुत से लोग 3G मोबाइल यूज़ करते है या कहे कि अभी भी भारत की बड़ी जनसंख्या के पास 3G नेटवर्क सपोर्ट डिवाइसेस है इस कारण 5जी कर बारे में सोचना इतना आसान नही है. इसलिए इसे इंडिया में आने में तोड़ा और अधिक समय लगने वाला है.



    5G नेटवर्क के फायदे (5g नेटवर्क से नुकसान)

    अगर नेटवर्क पांचवी पीढ़ी ( Fifth Generation  ) का है तो साफ है इसके फ़ायफे 3जी या 4जी के मुकाबले ज्यादा होंगे. इसके कुछ फायदे जिन्हें में नीचे बताने वाला हूँ।


    1. सबसे पहला फायदा ये है कि इससे हमारी इंटरनेट स्पीड कही गुना बढ़ने वाली है.

    2. इंटरनेट में काम करना आसान और पहले के मुकाबले कही गुना जल्दी होने वाला है.

    3. वीडियो कॉल या वॉइस कॉल स्मूथ और क्लियर वॉइस के साथ मिलने वाली है.

    4. लाइव टीवी या ऑनलाइन मूवीज देखने का मजा दुगना होने वाला है क्योंकि अब हाई क्विलिटी वीडियो भी बिना किसी रुकावट कर चलेगी.

    5. 4K या HD Movies को अब कुछ सेकेंड्स या मिनटों के अंदर डाउनलोड किया जा सकता है.

    6. Game lover के लिए 5G बहुत कारगर सावित होने वाला है क्योंकि 5जी के आने से ऑनलाइन खेले जाने वाले गेम्स को अब 4K या High Graphics Quality के साथ खेला जा सकता है.



    5g नेटवर्क से नुकसान

    लोग 5जी का जिस बेसवरी से इंतजार कर रहे है उससे दोगुनी चिंता वैज्ञानिक इसकी सुरक्षा को लेकर कर रहे है. क्योंकि एक्सपर्ट का मानना है कि 5जी नेटवर्क के आने से Hackers आपके डेटा को अब और भी आसानी से Hack कर पाएंगे. क्योंकि 5g नेटवर्क पर फ़ोन पूर्ण सुरक्षित तरह से सेल्युलर नेटवर्क पर कनेक्ट नही हो पाएगा.


    Tag

    5G kya hai | kaise kam karta hai 5g network | 5g ke fayde, 5g se nuksaan  | 5g network in india | 5g technology in india | 5g network se nuksan



    कोई टिप्पणी नहीं:
    Write comment