manav adhikaar divas kab manaya jata hai | मानव अधिकार दिवस 2021 थीम

manav adhikaar divas kab manaya jata hai | मानव अधिकार दिवस 2021 थीम

आइये जानते है मानव अधिकार दिवस कब मनाया जाता है और इस वर्ष मानव अधिकार दिवस 2021 थीम क्या रखी है। ये सभी जानकारी हम इस लेख में देने वाले है।

manav adhikaar divas kab manaya jata hai

आज के दिन 10 दिसंबर को अंतर्राष्ट्रीय मानवाधिकार दिवस है। जिसे दुनियाभर में हर वर्ष इसी दिन मनाया जाता है। इस वर्ष 2021 में मानव अधिकार दिवस गुरुवार के दिन पड़ रहा है। इसे मनाने की घोषणा आज ही के दिन साल 1948 में संयुक्त राष्ट्र सामान्य महासभा ने की थी, लेकिन आधिकारिक तौर पर मानव अधिकार की घोषणा साल 1950 में की थी। 

मानव अधिकार दिवस क्यों मनाया जाता है

इसे मनाने का मुख्य उद्देश्य लोगों को उनके अधिकारों के प्रति जागरूक करना और दिलाना है जिससे लोगों में एक-दूसरे के प्रति भेदभाव को खत्म किया जा सके।

मानव अधिकार के मूलभूत अधिकार क्या है?

मानव अधिकार के मूलभूत अधिकारों के तहत कोई भी मनुष्य किसी को उसकी जाति-धर्म, रंग-रूप, नस्ल, लिंग व भाषा आदि के आधार पर प्रताड़ित या भेदभाव नहीं कर सकता है। इसके अलावा इसमें आर्थिक, सामाजिक और शिक्षा के अधिकार इसी के अंतर्गत आतें है। आप से आपके मानव अधिकार न छीने जा सकतें है न ही आपको इन से वंचित रखा जा सकता है।

मानव अधिकार दिवस का अर्थ

मानव अधिकारों का वास्तविक अर्थ है लोगों के बीच वह सभी भेदभाव को खत्म करना और उन्हें वह सभी हक दिलाना है। जिनके बिना उनका जीवन अधूरा है। जिनमें स्वतंत्रता, समानता, शिक्षा, रोजगार जैसी हर मौलिक अधिकार शामिल है जिनका हर मनुष्य हकदार है जो सामान्य जीवित-यापन के लिए बहुत जरूरी है।

भारत में मानव अधिकार दिवस कब मनाया जाता है

भारत में 28 सितंबर 1993 को मानवाधिकार कानून अमल में लाया गया था। जिसके बाद भारत में 12 अक्टूबर 1993 को राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग का गठन किया गया। भारत में मानवाधिकार आयोग राजनीतिक, आर्थिक, सामाजिक और सांस्कृतिक क्षेत्रों में निरन्तर कार्य कर रहा है।

मानव अधिकार दिवस 2021 थीम

हर वर्ष मानव अधिकार दिवस के लिए संयुक्त राष्ट्र द्वारा एक थीम तय की जाती है। इस साल मानवाधिकार दिवस 2021 की थीम  'असमानताओं को कम करना, मानवाधिकारों को आगे बढ़ाना' रखी गई है।

मानव अधिकार दिवस 2020 थीम क्या थी

2020 में मानव अधिकार दिवस की थीम कोविड-19 महामारी से पैदा हुई स्थिति को ध्यान में रखते हुए "फिर से बेहतर- मानव अधिकारों के लिए खड़े हो जाओ" रखी गई थी।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ