वैष्णो देवी मंदिर में भगदड़ मचने का क्या थी बजह, केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह और डीजीपी ने बताई ये वजह जबकि चश्मदीदों ने कहा पुलिसकर्मियों की थी कमी

वैष्णो देवी मंदिर में भगदड़ मचने का क्या थी बजह, केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह और डीजीपी ने बताई ये वजह जबकि चश्मदीदों ने कहा पुलिसकर्मियों की थी कमी


माता वैष्णो देवी मंदिर में साल 2022 के पहले ही दिन भगदड़ के चलते हुए दुखद हादसा हो गया है। जिसमें करीब 12 लोगों की जान गई है और 12 लोग घायल बताये जा रहे है। इस हादसे के पीछे की वजह कुछ युवकों के बीच विवाद बताया जा रहा है। केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने इस बात और चर्चा करते हुए कहा कि गेट नंबर तीन पर कुछ नौजवानों में आपस में कुछ बहस हुई थी और फिर इनमें से किसी को धक्का दिया गया और जिससे लोग भागने लगे। देखते ही देखते भगदड़ की स्थिति पैदा हो गई और इस पूरी घटना में 12 लोग मारे गए। जबकि हादसे में 14 लोग जख्मी होने की खबर हैं। घायलों का इलाज वैष्णो देवी नारायणा सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल में जारी है। जिनमें कुछ लोगों की हालत अभी भी गंभीर बताई जा रही है।

इस कारण घटी वैष्णो देवी मंदिर घटना

इस घटना को केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह के अलावा जम्मू-कश्मीर के डीजीपी दिलबाग सिंह ने भी युवकों के विवाद को ही हादसे की मुख्य वजह बताई है। वही मीडिया ने हादसे के वक्त मौजूद व्यक्तियों से भी बात की उनका भी इस घटना पर युवाओ का आपसी झगड़ा बताया है। उन्होंने कहा कि दर्शन के लिए लाइव में लगे कुछ युवाओं के बीच धक्कामुक्की हुई इसके चलते भगदड़ मच गई। ये घटना रात करीब 2:30 बजे गेट नंबर पर 3 पर घटित हुई। लाइन में लगे कुछ नोजवानो के बीच बहस हुई, जिसके बाद धक्कामुक्की को शुरआत हुई। और भगदड़ मची। जिससे ये हादसा हुआ।

चश्मदीदों ने कहा पुलिसकर्मियों की थी कमी

वहां मौजूद लोगों का कहना है कि भीड़ बहुत अधिक थी। इस दौरान दर्शन के लिए जाने वाले और और दर्शन करके आने वाले लोगों में धक्का-मुक्की हो रही थी। वहाँ मौजूद लोगों का कहना है कि रास्ते में उनकी कहीं पर्ची की जांच नहीं की गई। और भीड़ को नियंत्रित करने के लिए पुलिसकर्मियों और श्राइन बोर्ड कर्मियों की भी कमी थी। घटना पर मंदिर में मौजूद लोगों का कहना इसमें प्रशासन और कमियों की कोई गलती नहीं है घटना का मुख्य कारण लाइन में लगे कुछ लोगों के बीच विवाद है।

Post a Comment

0 Comments

Join Telegram

Join Letest Mobile News के लिए Telegram Join करें

Join Telegram