Ticker

6/recent/ticker-posts

Amway india पर ED ने की बड़ी कार्रवाई, 757 करोड़ रुपये की संपत्ति की कुर्क, पढ़ें पूरी खबर




amway india news: प्रवर्तन निदेशालय ने एमवे इंडिया एंटरप्राइजेज प्राइवेट लिमिटेड को अस्थायी रूप से 757 करोड़ रुपये से अधिक की संपत्ति संलग्न की है। मनी लॉन्ड्रिंग अधिनियम के तहत प्रवर्तन निदेशालय की एक जांच से पता चला है कि एमवे डायरेक्ट सेलिंग एक बहु-स्तरीय विपणन की आड़ में पिरामिड धोखाधड़ी कर रही है जिसका स्पष्ट अर्थ है कि केवल सदस्यों को ही सदस्य बनना होगा और उन्हें कंपनी का सामान बेचना होगा। कंपनी पर आरोप है कि जो सामान कंपनी दे रही है वही सामान स्थानीय बाजार में बेहद कम दामों में मिल रहा है।


प्रवर्तन निदेशालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि एमवे एक मार्केटिंग कंपनी है जिसका कारोबार अरबो रुपये का है। विशेष रूप से, एजेंटों को कंपनी में शामिल होने के लिए कहा जाता है।  फिर उसे कंपनी द्वारा बेचे गए सामान को लेने के लिए कहा जाता है। यह भी कहा जाता है कि यदि इसके अधिक सदस्य हैं और वे सदस्य अधिक सदस्य होने के बाद वस्तु खरीदते हैं, तो उन्हें उनका कमीशन प्राप्त होगा। कंपनी के नियम अनुसार पहले सामान को खुद खरीदना जोग और प्रयोग करना होगा। यानी जो व्यक्ति इस कंपनी का सदस्य बनता है उसे कंपनी द्वारा बेचा गया सामान खरीदना होगा।


इसके बाद आयोग के लालच में इसके सदस्य अपने जानकार लोगों को सदस्य बना लेते हैं और आयोग के लालच में यह सिलसिला और फैल जाता है। ईडी का मानना ​​है कि कंपनी इस तरह से पिरामिड को धोखा दे रही थी।


आरोप है कि कंपनी ने खाली समय में घरेलू सामान बेचकर लोगों को करोड़पति बनने का लालच दिया। इसके तहत पिरामिडों की एक ही श्रृंखला बनाई जाती है, जिसमें कंपनी अपने खर्चे पर उन सभी लोगों को सामान खरीदती है जो इस श्रृंखला में आते हैं। ईडी ने आधिकारिक तौर पर कहा है कि कंपनी द्वारा पेश किए जाने वाले अधिकांश उत्पादों की कीमतें प्रतिष्ठित निर्माताओं के लोकप्रिय उत्पादों की तुलना में अत्यधिक हैं। साधारण भोले-भाले लोग वास्तविक तथ्यों को जाने बिना कंपनी में शामिल होने के लिए लुभाते हैं और उत्पादों को अत्यधिक कीमतों पर खरीदते हैं और इस तरह अपनी मेहनत की कमाई खो देते हैं।

प्रवर्तन निदेशालय ने मामले में 757.77 करोड़ रुपये की चल-अचल संपत्ति जब्त की है. तमिलनाडु के डिंडीगुल जिले में एमवे की भूमि और कारखाने की इमारत ... संयंत्र और मशीनरी वाहन ... बैंक खातों और सावधि जमा सहित ईडी ने एमवे के 36 अलग-अलग बैंक खातों से 411 करोड़ रुपये की संपत्ति भी जब्त की है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

एडवरटाइज हटाएं यहाँ क्लिक करें