अपनी पुरानी कार गाड़ी को ऑनलाइन बदलवाएं इलेक्ट्रिक गाड़ी में, आएगा इतना खर्चा, जानिए पूरी डिटेल




डीजल या पेट्रोल से चलने वाले पुराने वाहनों को इलेक्ट्रिक वाहनों में बदला जाएगा और सड़क पर चलने की सारी जानकारी घर पर ही मिलेगी।  दिल्ली सरकार पुराने पेट्रोल और डीजल वाहनों को इलेक्ट्रिक कारों में बदलने की ऑनलाइन सुविधा देगी।  परिवहन विभाग एनआईसी के सहयोग से इसके लिए एक सॉफ्टवेयर विकसित कर रहा है।  इससे पुराने वाहनों को इलेक्ट्रिक वाहनों में बदलने वाली कंपनियों से उत्पादन, कीमत और आरटीओ पंजीकरण की जानकारी मिलेगी।  परिवहन विभाग की इस पहल से लाखों वाहन मालिकों को फायदा होगा।

आएगा इतना खर्चा


एक पुराने डीजल या पेट्रोल वाहन को इलेक्ट्रिक कार में बदलने में 3 लाख रुपये से 5 लाख रुपये तक का खर्च आएगा।  ये दरें वाहन में लगे मोटर, कंट्रोलर, रोलर और बैटरी पर निर्भर करती हैं।  इसकी गुणवत्ता से कीमतें तय होती हैं।  मोटर और बैटरी की किलोवाट क्षमता बढ़ने से लागत भी बढ़ जाती है।

ई-वाहनों की लगातार बढ़ती संख्या


परिवहन विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार पुराने वाहन में इलेक्ट्रिक किट की रेट्रोफिटिंग के बाद वाहन मालिक को खुद आरटीओ पंजीकरण के लिए नहीं जाना होगा, ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से भी सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी।  अधिकारी के मुताबिक, पोर्टल को 15 जून के बाद लॉन्च करने का लक्ष्य है। दिल्ली में ई-वाहनों की संख्या लगातार बढ़ रही है।  मई 2022 तक दिल्ली में अब तक 1.48 लाख ई-वाहनों का रजिस्ट्रेशन हो चुका है।  अकेले 2022 में, कुल पंजीकृत वाहनों में ई-वाहनों की हिस्सेदारी 9.3% से अधिक थी।

पोर्टल पर मिलेगी ये सुविधाएं


ऑनलाइन पोर्टल पर लोगों को सप्लायर्स, मैन्युफैक्चरर्स और रेट्रोफिट कंपनियां एक ही जगह मिल जाएंगी।  ड्राइवर अलग-अलग कंपनियों के उत्पाद और उनकी कीमतें एक ही जगह देख सकेंगे।  आपको यह भी पता चल जाएगा कि उनका निर्माता कौन है।  इसके अलावा, वे कौन सी कंपनियां स्थापित कर रहे हैं, उनके केंद्र कहां हैं, इसकी सारी जानकारी पोर्टल पर उपलब्ध होगी।

Post a Comment

0 Comments

Join Telegram

Join Letest Mobile News के लिए Telegram Join करें

Join Telegram